Structure Of Bacterial Cell BSc 1st Year Botany Notes

Structure Of Bacterial Cell BSc 1st Year Botany Notes

 

Structure Of Bacterial Cell BSc 1st Year Botany Notes :- BSc 1st Year Botany  Bacteria And Fungi Diversity of Viruses Notes. This Post is very useful for all the Student Botany. This post will provide immense help to all the students of BSc Botany.

 


 

प्रश्न 13 – जीवाणु कोशिका की संरचना का सचित्र वर्णन कीजिए। 

उत्तर एन्टोनी वान ल्यूवेनहॉक (1776) द्वारा साधारण सूक्ष्मदर्शी तथा हुक (1820) द्वारा संयुक्त सूक्ष्मदर्शी की खोजों से जीवाणुओं की खोज हुई तथा उनके बारे में विस्तार से पता चला। ये सूक्ष्म, प्रोकैरियोटिक, सभी जगह पाए जाने वाले जीवित जीव होते हैं, जो कि पौधों तथा जानवरों एवं मानव में बहुत-सी बीमारियाँ पैदा करते हैं। मानव के लिए इनके लाभ भी अनेक हैं।

जीवाणु कोशिका की रचना

(Structure of Bacterial Cell) Notes

संरचना के लिए जीवाणु कोशिका को निम्नलिखित चार भागों में विभाजित किया जा सकता है

(1) Surface appendages; जैसे-फ्लैजेला, पिली या फिम्ब्री आदि।

(2) Surface adherants; जैसे-कैप्सूल तथा अन्य बाहरी परतें।

(3) Cell wall (कोशिका भित्ति)।

(4) Special structure (विशेष संरचना); जैसे-एण्डोस्फेस।

कशाभिकाएँ (flagella) गति के साधन हैं। ये कुछ जीवाणुओं में नहीं पाए जाते हैं। इनकी लम्बाई 4-51 होती है तथा कभी-कभी ये जीवाणु की कोशिका से काफी लम्बे होते हैं। कशाभिकाएँ 120-150 A diameter के होते हैं तथा प्रोटीन के बने होते हैं। इस प्रोटीन को flagellin कहते हैं। इसके क्रॉस सेक्शन में 8 flagellin के अणु दिखाई देते हैं।

पिली (pili) या फिम्ब्री (fimbrae) सतह पर पाए जाने वाले सिकुड़े हुए छोटे भाग होते हैं जो कि जीवाणु कोशिकाओं को conjugation की क्रिया के समय जोड़ने में सहायक होते हैं।

कैप्सूल तथा स्लाइम परतें (Capsule and Slime Layers) 

जिलेटिन पदार्थों की पतली परतों को slime layers कहते हैं तथा जब ये परतें काफी मोटी हो जाती हैं, तब इन्हें कैप्सूल कहते हैं। रासायनिक रूप से ये परतें पॉलिसैकेराइड्स की बनी होती हैं। जीवाणुओं में कैप्सूल असामान्य परिस्थितियों में ही बनते हैं। यह एक रक्षक आवरण है।

कोशिका भित्ति (Cell wall) 

जीवाणुओं की कोशिका भित्ति सेलुलोस के बजाय mucopeptides की बनी होती है। Mucopeptides की chains ऐमीनो अम्लों की छोटी श्रृंखलाओं से जुड़ी रहती हैं। Gram +ve जीवाणुओं की कोशिका भित्ति एक-सी होती है तथा इसमें 85% या अधिक mucopeptides या साधारण पॉलिपेप्टाइड होते हैं। दूसरी ओर Gram_va जीवाणओं कोशिका भित्ति tripartite दिखाई देती है।

Structure Of Bacterial Cell
Structure Of Bacterial Cell

कोशिकाद्रव्य तथा अन्य रचनाएँ (Cytoplasm and Other organelles) 

cremoris अ जीवाणुओं के केन्द्रक में कोई विशेष प्रकार के क्रोमोसोम नहीं होते। केन्द्रक incipie . ऐल्कोहॉति या unorganised nucleus होता है। केन्द्रक भित्ति भी नहीं होती है तथा कोशिका विभाजन

  1. एथि में कोई spindle भी नहीं बनता है।

प्रकाश संश्लेषण करने वाले जीवाणुओं में लैमेली तथा क्रोमैटोफोर पाए जाते हैं। इन ही जीवाणुओं में कुछ वर्णक (pigments) भी पाए जाते हैं। इनमें काफी संख्या में राइबोसोम (ribosomes) भी होते हैं जो कि काफी छोटे होते हैं। इनका व्यास (diameter) लगभग 100 Ā होता है। इसमें 70S राइबोसोम मिलता है।

प्लाज्मा भित्ति के extensions को mesosomes कहते है। ये DNA के द्धिगुणक (replication) में सहायक होते हैं तथा पट्ट (septum) बनने में काम आते हैं।

जीवाणुओं की कोशिकाओं में polysaccharides, lipids, volutin granule सल्फर आदि भी मिलते हैं।

Structure Of Bacterial Cell
Structure Of Bacterial Cell

 


Follow me at social plate Form

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *