BSc Gymnosperms Resemblances Angiosperms Notes

BSc Gymnosperms Resemblances Angiosperms Notes

 

BSc Gymnosperms Resemblances Angiosperms Notes:- BSc Botany Question Answer Notes Sample Model Practice Papers Previous Year Notes Available. In This Site, Dreamtopper.in is very helpful for all the Students. All types of Notes have been made available on our Site in PDF Free through which you will get immense help in your Studies. In this post, you will full information related to BSc Botany.

 


प्रश्न 11 – अनावृतबीजी की तुलना आवृतबीजी तथा टेरिडोफाइटा से कीजिए।

उत्तर

अनावृतबीजी की आवृतबीजी से समानता 

(Gymnosperms Resemblances with Angiosperms) Notes

(1) दोनों में बीजाणुउद्भिद् पादप होता है जो मूल, तना तथा पत्ती में विभाजित भनि होता है।

(2) दोनों में जाइलम तथा फ्लोएम मिलते हैं।

(3) दोनों में द्वितीयक वृद्धि मिलती है।

(4) दोनों में फूल बनते हैं।

(5) दोनों में पराग नलिका (pollen tube) बनती है।

(6) दोनों में बीज बनता है। ____

(7) पीढ़ी एकान्तरण (alternation of generation) भी दोनों में समान होता है।

आवृतबीजी से विभिन्नता 

(Differences with Angiosperms) Notes

(1) आवृतबीजी पादपों में वाहिकाएँ (vessels) मिलती हैं, परन्तु अनावृतबीजी में गण नीटेल्स को छोड़कर ये नहीं पायी जाती हैं।

(2) फ्लोएम में सहचर कोशिकाएँ (companion cells) अनावृतबीजी में नहीं मिलती हैं, परन्तु आवृतबीजी में मिलती हैं।

(3) अनावृतबीजी में फूल मिलते हैं, परन्तु उनमें बाह्यदल, दल (calyx, corolla) नहीं मिलते हैं। पुष्प एकलिंगी होते हैं। आवृतबीजी में बाह्यदल, दल (calyx, corolla) वाले फूल होते हैं, जो एकलिंगी या द्विलिंगी हो सकते हैं।

(4) बीज अनावृतबीजी में नग्न होते हैं, परन्तु आवृतबीजी में अण्डाशय भित्ति से घिरे रहते हैं। सत्यफल अनावृतबीजी में नहीं मिलते हैं, परन्तु आवृतबीजी में मिलते हैं। .

(5) एण्डोस्पर्म (endosperm) अनावृतबीजी में निषेचन से पहले बनता है परन्तु आवृतबीजी में यह निषेचन के बाद बनता है।

(6) अनावृतबीजी में एण्डोस्पर्म अगुणित (haploid) होता है, परन्तु आवृतबीजी में त्रिगुणित (triploid) होता है।

(7) द्विनिषेचन आवृतबीजी में मिलता है, परन्तु अनावृतबीजी में नहीं मिलता है।

अनावृतबीजी की टेरिडोफाइटा से समानता

(Gymnosperms Resemblances with Pteridophyta) Notes

(1) पादप शरीर स्पोरोफाइट (sporophyte) होता है जो जड़, तना तथा पत्ती में विभक्त होता है।

(2) स्पोरोफिटिक पीढ़ी जीवन-चक्र में प्रभावी होती है।

(3) तरुण पत्ती कुण्डलित किसलय विन्यास (circinate venation) दर्शाती है।

(4) जाइलम में वाहिकाएँ (vessels) नहीं मिलती हैं, नीटेल्स गण को छोड़कर।

(5) फ्लोएम में सहचर कोशिकाएँ (companion cells) नहीं मिलती हैं।

(6) बीजाणुधानी समूह में मिलती हैं जिन्हें सोराई (sori) कहते हैं।

(7) पुंमणु ciliated होते हैं; जैसे—साइकस।

टेरिडोफाइटा से विभिन्नता 

(Differences with Pteridophyta) Notes

(1) अनावृतबीजी में मूसला जड़ मिलती है, परन्तु टेरिडोफाइट्स में मूसला जड़ अल्पकालिक होती है और इसके मरने के बाद अपस्थानिक मूल निकलती है।

(2) टेरिडोफाइट्स में द्वितीयक वृद्धि नहीं मिलती, जबकि अनावृतबीजी में द्वितीयक वृद्धि मिलती है।

(3) बीजाण्ड का विकास तथा बीज टेरिडोफाइट्स में नहीं मिलते, जबकि अनावृतबीजी में मिलते हैं।

(4) अनावृतबीजी में नेक कैनाल कोशिकाएँ (neck canal cells) नहीं मिलती, जबकि टेरिडोफाइट्स में मिलती हैं।

(5) पराग नलिका (pollen tube) अनावृतबीजी में मिलती है, जबकि टेरिडोफाइट्स में नहीं मिलती।

 


 

Follow me at social plate Form

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *