Development Of Sporophyte In Bryophyta BSc Botany Notes

Development Of Sporophyte In Bryophyta BSc Botany Notes

 

Development Of Sporophyte In Bryophyta BSc Botany Notes :- All type of Notes have been made available on our Site Dreamtopper.in PDF Study Material Question Answer Paper Previous Questions Unit wise Chapter -wise Syllabus of the content. Study Notes Mock Test Paper Download Available.

 


प्रश्न 7 – ब्रायोफाइटा में बीजाणुउद्भिद् (sporophyte) के विकास (development) का वर्णन कीजिए। 

उत्तर –

ब्रायोफाइटा में बीजाणुउद्भिद का विकास

(Development of Sporophyté in Bryophyta) 

ब्रायोफाइटा में स्पोरोफाइट एक द्विगुणित (diploid) अवस्था होती है जो कि meios के बाद में spores को जन्म देती है। यह या तो पूरी तरह से या अर्द्ध रूप से गैमिटोफाइट से ‘जुड़ी रहती है। ब्रायोफाइटा में स्पोरोफाइट कभी भी एक स्वतन्त्र संरचना नहीं होती हैं। यह किसी-न-किसी रूप से पूर्ण रूप में या आधे रूप में गैमिटोफाइट के ऊपर भोजन क निर्भर रहती है।

स्पोरोफाइट की आकति भी भिन्न होती है। Riccia में यह एक गोलाकार संरचना होती है जो

कि गैमिटोफाइट के अन्दर धंसी रहती है, लेकिन बाकी अन्य ब्रायोफाइट्स (जैसे Marchantia,  Funaria etc.) में स्पोरोफाइट फुट (foot), सीटा (seta) तथा कैप्सूल (Capsule) में विभाजित रहता है। Foot स्पोरोफाइट को जमाने तथा भोजन के अवशोषण में सहायता करता है। Seta लम्बाई बढ़ाने में सहायक होता है। कैप्सूल में बीजाणु (spores) बनते हैं।

स्पोरोफाइट के विकास के बारे में निम्नलिखित दो वाद हैं

I. स्टेरीलाइजेशन वाद, II. रिडक्शन वाद।

I. स्टेरीलाइजेशन वाद (Theory of Sterilization) 

इस वाद को बोवर (Bower) ने प्रतिपादित किया। इस वाद का मुख्य नियम है “The progressive sterilization of the potentially fertile cells of the sporogenous tissue.” अर्थात् spore बनाने वाली कोशिकाएँ spores बनाने के बजाय . sterile रह जाएँ। इस वाद को स्मिथ, कैम्पबेल, केवर्स आदि वनस्पतिविज्ञों ने समर्थन दिया है। इस वाद के अनुसार अलग-अलग तरह के ब्रायोफाइटा के स्पोरोफाइट्स अग्र प्रकार बताए जा सकते हैं।

(i) रिक्सिया (Riccia) का बीजाणुउद्भिद्-Riccia में स्पोरोफाइट गैमिटोफाइट के अन्दर धंसा रहता है। कैप्सूल की भित्ति एक परत वाली एम्फीथीसियम (amphithecium) की बनी होती है। अन्दर की एन्डोथीसियम (endothecium) का कार्य spores बनाने का होता है। वैसे तो सभी sporogenous कोशिकाएँ spores बनाने में सक्षम होती हैं क्योंकि Riccia के स्पोरोफाइट में बहुत ही कम sterile भाग रहता है। इसीलिए इस वाद के अनुसार ब्रायोफाइटा में यह सबसे साधारण sporophyte कहलाता है।

Development Of Sporophyte In Bryophyta
Development Of Sporophyte In Bryophyta

ऊपर का आधा एपीबेसल (epibasal) भाग ही कैप्सूल (capsules ) बनता हैं। इस आधे capsule वाले भाग में भी बाहर की तरफ एक sterile amphithedia इसमें शेष बची हुई एन्डोथीसियम (endothecium) का आधा भाग फिर जो कि elaters बनाता है तथा बाकी बचा हुआ केवल आधा भाग ही Spores के रूप में fertile रहता है। अत: यह साफ हो जाता हैं कि Marchantia के sporophyte में Riccia से काफी ज्यादा भाग sterile रहता है।

(iii) पेलिया (Pellia) का बीजाणुउदभिद् -Marchantia की तरह से pellia के sporophyte में बन्ध्य (sterile) foot तथा seta तथा जननक्षम (fertiane) capsule रहता है, लेकिन capsule वाला भाग Pellia में और ज्यादा sterile हो जाता है क्योकी इसमें इलेटरोफोर (elaterophore) होता है जो कि Marchantia में नहीं होता

Elaterophore कैप्सूल से नीचे के भाग में रहता है।

(iv) एन्थोसिरोस (Anthoceros) का बीजाणुउद्भिद्-Anthoceros के स्पोरोफाइंट में fertile भाग Riccia, Marchantia तथा Pellia तीनों से कम होता है। इसमें समस्त endothecium sterile रहता है तथा एक columella बनाता है। Amphithecium की सबसे अन्दर वाली परत से ही केवल fertile भाग spores के रूप में बनता है। इस परत में से भी आधा भाग और pseudoelaters के रूप में sterile होता है।

Development Of Sporophyte In Bryophyta
Development Of Sporophyte In Bryophyta

ऊपर का आधा एपीबेसल (epibasal) भाग ही कैप्सूल (capsule) बनता है इस आधे capsule वाले भाग में भी बाहर की तरफ एक sterile amphithecium की परत होती हैं। इसमें शेष बची हुई एन्डोथीसियम (endothecium) का आधा भाग फिर

जो कि elaters बनाता है तथा बाकी बचा हुआ केवल आधा भाग ही spores के रूप में fertile रहता हैं। अत: यह साफ हो जाता है कि  Marchantia के sporophytest में Riccia से काफी ज्यादा भाग sterile रहता है।

(iii) पेलिया (Pellia) का बीजाणुउद्भिद्-Marchantia की तरह से pellia के sporophyte में बन्ध्य (sterile) foot तथा seta तथा जननक्षम (fertile) capsulte रहता है, लेकिन capsule वाला भाग Pellia में और ज्यादा sterile हो जाता है क्योकिं इसमें इलेटरोफोर (elaterophore) होता है जो कि Marchantia में नहीं होता है। Elaterophore कैप्सूल से नीचे के भाग में रहता है। ___

(iv) एन्थोसिरोस (Anthoceros) का बीजाणुउद्भिद्-Anthocerost स्पोरोफाइट में fertile भाग Riccia, Marchantia तथा Pellia तीनों से कम होता है। इसमें समस्त endothecium sterile रहता है तथा एक columella बनाता है। Amphithecium की सबसे अन्दर वाली परत से ही केवल fertile भाग spores के रूप में बनता है। इस परत में से भी आधा भाग और pseudoelaters के रूप में sterile होता है।

Development Of Sporophyte In Bryophyta
Development Of Sporophyte In Bryophyta

(v) फ्यूनेरिया (Funaria) का बीजाणुउद्भिद्—यह sterility में सबसे ऊपर है। इसमें बीजाणुउद्भिद् (sporophyte) का बहुत थोड़ा भाग जननक्षम होता है, जो बीजाणु (spores) बनाता है। बाकी पूरा sporophyte बन्ध्य (sterile) रह जाता है। एन्डोथीसियम (endothecium) की सिर्फ एक बाहर की परत से ही बीजाणु (spores) बनते हैं।

बोवर के स्टेरीलाइजेशन वाद के अनुसार, स्पोरोफाइट का विकास ऊपर की दिशा में होता है।

II. रिडक्शन वाद (Reduction Theory) 

कश्यप, इवांस, गोइबल आदि वनस्पतिविज्ञों ने बोवर (Bower) के स्टेरीलाइजेशन वाद के विरुद्ध अपना मत व्यक्त किया है। ये सभी Reduction Theory में विश्वास करते हैं। इनके अनुसार स्पोरोफाइट का विकास नीचे की दिशा में अधिक हुआ है। स्पोरोफाइट के सरलीकरण से ही रिडक्शन जुड़ा हुआ होता है। इन वनस्पतिविज्ञों के अनुसार Riccia का स्पोरोफाइट सबसे अधिक विकसित तथा Funaria का स्पोरोफाइट सबसे कम विकसित है। –

 


Follow me at social plate Form

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *