BSc Zoology Nervous System Of Palaemon Question Answer

BSc Zoology Nervous System Of Palaemon Question Answer

 

BSc Zoology Nervous System Of Palaemon Question Answer :- In this post all the questions of the second part of zoology are fully answered. This post will provide immense help to all the students of BSc zoology. All Topic of zoology is discussed in detail in this post.

 


 

प्रश्न 3 – झींगा मछली के तन्त्रिका तन्त्र का वर्णन कीजिए।

Describe nervous system of Palaemon.

उत्तर

झींगा मछली का तन्त्रिका तन्त्र 

(Nervous System of Palaemon) Notes

(1) मस्तिष्क अथवा सुप्रा-ईसोफेजियल गैंगलिया (Brain or supra oesophageal ganglia)-झींगा मछली का मस्तिष्क ग्रसिका के आगे रोस्ट्रम (Rostrum) के आधार पर होता है। इसके चारों ओर वसा का एक मोटा पिण्ड उपस्थित रहता है। यह दो पालिदार संरचना है जो कई गैंगलिया के संलग्न होने से बनती है। मस्तिष्क के दोनों ओर अग्र तन्त्रिकाएँ निकलती हैं

() एक ऐंटीन्यूलरी तन्त्रिका (antennulary nerve) अपनी ओर के एन्टीन्यूल में जाती है। इसमें से एक सन्तुलन पुटि शाखा (statocystic branch) सन्तुलन पुटि में जाती है।

(ख) एक मोटी ऑप्टिक तन्त्रिका (optic nerve) जो संयुक्त नेत्र में जाती है।

(ग) एक ऑप्थैल्मिक तन्त्रिका (ophthalmic nerve) जो नेत्रवृन्त की पेशियों में जाती है।

(घ) एक पतली अध्यावरक तन्त्रिका (tegumentary nerve) जो लेब्रम तक जाती है।

(2) सरकम ईसोफेजियल कमिश्योर (circum-oesophageal commissures) मस्तिष्क से पीछे की ओर एक जोड़ी मोटी तन्त्रिकाएँ निकलती हैं। ये दोनों पीछे एवं नीचे की ओर बढ़ती हुई ग्रसिका के नीचे सब-ईसोफेजियल गैंगलिया (sub-oesophageal ganglia) से मिल जाती हैं जो अधर वक्षीय गुच्छिका पुंज (ventral thoracic ganglionic mass) का अगला भाग बनाती है। प्रत्येक कमिश्योर के अग्र छोर के निकट एक छोटी कमिश्योरल गैंगलियान (commissural ganglion) होती है। एक छोटी मैंडिबुली तन्त्रिका (mandibular nerve) निकलकर अपनी ओर के मैंडिबल में जाती है और इसके पश्चछोर के निकट से एक अनुप्रस्थ संयोजक (transverse connective) निकलकर दूसरी ओर है। कमिश्योर से जुड़ जाती है।

Nervous System Of Palaemon
Nervous System Of Palaemon

(3) अधर वक्षीय गुच्छिका पुंज (Ventral thoracic ganglionic mass) वक्षीय भाग की खण्डीय तन्त्रिका गुच्छिकाएँ समेकन के पश्चात् एक लम्बे आकार का अधर वक्षीय गुच्छिका पुंज भाग बनाती हैं जो सिफैलोथोरेक्स के मध्य-अधर भाग में स्थित होता है।

इस पुंज में 11 जोड़ी गुच्छिकाएँ समेकित होती हैं। इसमें से 3 जोड़ी सिफैलिक तन्त्रिकाएँ हैं जो क्रमश: मैण्डिबिल, मैक्स्यूली तथा मैक्सिली में जाती हैं। पीछे की 8 जोड़ी तन्त्रिकाएँ वक्षीय तन्त्रिकाएँ (thoracic nerves) कहलाती हैं जिसमें से पहली तीन जोड़ी मैक्सिलीपीडों में और शेष 5 जोड़ी तन्त्रिकाएँ 5 जोड़ी चलन टाँगों में जाती हैं।

(4) अधर तन्त्रिका रज्जु (Ventral nerve cord)-अधर वक्षीय गुच्छिका पुंज के पिछले सिरे से एक मोटा उदरीय तन्त्रिका रज्जु निकलता है। यह उदर की मध्य-अधर रेखा के साथ पिछले सिरे तक फैल जाता है और प्रत्येक उदरीय खण्ड में फूलकर एक उदरीय गुच्छिका (abdominal ganglion) बनाता है। प्रथम पाँचों उदरीय गुच्छिकाओं में से प्रत्येक गुच्छिका से अपने खण्ड में 3 जोड़ी तन्त्रिकाएँ निकलती हैं

(क) एक जोड़ी पश्च तन्त्रिकाएँ (pedal nerves) प्लवपादों के लिए। (ख) एक जोड़ी प्रसारिणी पेशियों (extensor muscles) के लिए, तथा (ग) एक जोड़ी पिछले खण्ड की आकोचनी पेशियों (flexor muscles) के लिए।

अन्तिम या छठी उदरीय या ताराकार गुच्छिका (stellate ganglion) अन्य गुच्छिकाओं की अपेक्षा बड़ी होती हैं। इसमें 2 जोड़ी तन्त्रिकाएँ आकोचनी पेशियों को, 2 जोड़ी टेल्सन को, 2 जोड़ी यूरोपोडो को तथा एक मध्यवर्ती तन्त्रिका आहारनाल को जाती है।

(5) अनुकम्पी तन्त्रिका तन्त्र (Sympathetic nervous system)-यह आंतरांग (visceral) या स्वायत्त (autonomic) तन्त्रिका तन्त्र कुछ गुच्छिकाओं एवं तन्त्रिकाओं का बना होता है।

 


Follow me at social plate Form

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Index